मोदी सरकार में कौशल विकास मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने इस्तीफा दिया

नई दिल्ली . मोदी कैबिनेट में कौशल विकास मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना इस्तीफा सौंपा। सूत्रों के मुताबिक, बिहार के सारण से सांसद रूडी को संगठन की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। रूडी को गुरुवार को ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मुलाकात के लिए बुलाया था। गौरतलब है कि जल्द ही मोदी कैबिनेट का विस्तार होने जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने भी स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए इस्तीफे की पेशकश की है। पिछले दिनों लगातार रेल हादसों के बाद रेलमंत्री सुरेश प्रभु भी इस्तीफा दे चुके हैं। प्रधानमंत्री ने उन्हें इंतजार करने के लिए कहा है।

बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री रूडी के प्रदर्शन से संतुष्ट नहीं थे। सूत्रों के मुताबिक, उन्हें अपना प्रदर्शन सुधारने के लिए भी कहा गया था। रूडी अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में भी एक साल के लिए उड्डयन मंत्री रह चुके हैं। कहा जाता है कि रूडी को संगठन की अच्छी समझ है। उनके प्रभारी रहते ही पार्टी को महाराष्ट्र में जीत मिली थी।

मोदी कैबिनेट में फेरबदल के कयासों के बीच अब यह अटकलें लगने लगी हैं कि जिन मंत्रियों को हटाकर संगठन में लाया जाना है, उनमें राजीव प्रताप रूडी के अलावा गिरिराज सिंह शामिल हैं। इनके अलावा पंजाब के प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष विजय सांपला और यूपी के प्रदेश अध्यक्ष बनाए गए केंद्रीय मानव संसाधन राज्यमंत्री महेंद्र पांडे भी शामिल हैं। कलराज मिश्र को भी उनकी आयु की वजह से इस बार कैबिनेट से संगठन में लाया जा सकता है या फिर राज्यपाल बनाया जा सकता है।

बीजेपी सूत्रों का कहना है कि हाल ही में अमित शाह ने उपेंद्र कुशवाहा, राजीव प्रताप रूडी और चौ. बीरेंद्र सिंह को बुलाया था। यह माना जा रहा है कि चौ. बीरेंद्र सिंह को भी कुछ और जिम्मेदारी दी जा सकती है। हालांकि पार्टी नेताओं का कहना है कि चूंकि मंत्री किसे रखा जाए या नहीं, इसका अधिकार प्रधानमंत्री को ही है। ऐसे में पार्टी की ओर से नहीं इस बारे में फैसला प्रधानमंत्री को लेना होगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *